hamburgerIcon
login
ADDED TO CART SUCCESSFULLY GO TO CART
  • Home arrow
  • गर्भधारण करने के लिए इन बातों का रखें खास ख्याल | Tips to conceive in Hindi arrow

In this Article

    गर्भधारण करने के लिए इन बातों का रखें खास ख्याल | Tips to conceive in Hindi

    Pregnancy

    गर्भधारण करने के लिए इन बातों का रखें खास ख्याल | Tips to conceive in Hindi

    Updated on 29 April 2024

    कुछ महिलाओं के लिेए गर्भधारण करना बेहद आसान होता है. लेकिन, कई कपल्स ऐसे भी हैं, जो संतान सुख पाने के लिए तरस रहे हैं और अभी भी वो ये सुख भोग नहीं पा रहे है. वैसे तो इसकी कई सारे कारण हो सकते है जैसे- हार्मोनल गड़बड़ी, अपर्याप्त और अस्वस्थ स्पर्म/शुक्राणु, चिंता और सेक्स पोज़िशन का ठीक न होना आदि. आपको इन सभी के बारे में पता होना चाहिए, आइए जानते हैं कि प्रेगनेंट होने के लिए कौन-सी बातों का ख़ास ख्याल रखना चाहिए -

    1. सेक्स पोजिशन (Sex Position)

    बता दें, सेक्स पोजिशंस का सीधा रिश्ता मेल स्पर्म्स और फीमेल एग्स के साथ होता है. ओवरी से एक बार रीलीज़ होने के बाद ओव्युलेशन स्टेज के दौरान एग फलोपियन ट्यूब से यूटरस की तरफ चलना शुरू कर देता है. हालांकि, बहुत से लोगों को इस बात पर विश्वास नहीं होता कि गर्भवती होने के लिए अलग तरह के सेक्स पोज़िशन ज़रूरी हैं, लेकिन आपको बता दें कि प्रेग्नेंसी तभी होती हैं जब अंडाणु और शुक्राणु का मिलन होता है. ये मिलन सेक्स मुद्राओं पर बहुत निर्भर करता है. इसलिए, सेक्स पोजिशंस का ख्याल रखना उन कपल्स के लिए बेहद जरूरी है, जिन्हें कंसीव करने में समस्या होती है. ऐसे में ये भी ज़रूरी है कि उन तरीकों को इग्नोर किया जाए, जिनसे स्पर्म और एग का मिलन बहुत मुश्किल हो जाता है. जैसे कि खड़े होकर, बैठकर या फिर वुमन ऑन टॉप पोजिशन में सेक्स करना आदि.

    दरअसल, सेक्स के दौरान महिला किस मुद्रा में लेटी है, इस पर भी प्रेग्नेंसी निर्भर करती है. महिला के हिप्स की पोज़िशन ऐसी होनी चाहिए कि शुक्राणु उसके गर्भाशय तक न सिर्फ पहुंच सकें, बल्कि वहां ठहरे भी रहें. इसलिए गर्भधारण करते वक्त इस बात का विशेष ख्याल रखना चाहिए कि फीमेल सर्विक्स तक पहुंचकर एग से मिलन करने के बजाए स्पर्म कहीं वजाइना से बाहर न आ जाएं. वहीं सेक्स के दौरान महिला के हिप्स कुछ ऐसी पोजिशन में होने चाहिए, जिससे रिलीज के बाद स्पर्म अंदर ही रहें और उन्हें फीमेल सर्विक्स तक पहुंचने के लिए काफी समय मिलें.

    2. हेल्दी लाइफस्टाइल (Healthy Lifestyle)

    जल्दी कंसीव करने के लिए आपको अपने खान-पान को सुधारने की भी बहुत जरूरत है. खाने में प्रोटीन और फाइबर की मात्रा को बढ़ाएँ. अगर आप हार्मोनल समस्याओं से जूझ रही हैं और आपका वजन बढ़ा हुआ है तो उसे कम करने का प्रयास करें. क्रैश डाईट की जगह हेल्दी डाईट अपनाएं. भरपूर मात्रा में पानी का सेवन करे. तली-भुनी चीज़ों, अल्कोहल और स्मोकिंग से जितना दूर रहें उतना आपके लिए बेहतर है. दिन में 8 घंटें की नींद लेना बहुत जरुरी है. अपनी दिनचर्या में एक्सरसाइज को जरुर शामिल करें.

    3. सप्लीमेंटेशन (Supplementation)

    हमारी डेली डाईट बहुत साधारण होती है और इसलिए हमें कभी-कभी वो सभी पोषक तत्व नहीं मिल पाते जो हमारी रिप्रोडक्टिव हेल्थ के लिए जरुरी होते हैं. ऐसे में डॉक्टर की सलाह से आप जरुरी सप्लीमेंट्स जैसे फॉलिक एसिड, आयरन और कैलशियम का सेवन कर सकती हैं. इसके अलावा आप अपने पीरियड्स और ओवुलेशन को रेगुलर करने के लिए कुछ आयुर्वेदिक फर्टिलिटी सप्लीमेंट्स भी ले सकती हैं. जैसे ओवलुना फर्टिलिटी सप्लीमेंट, इसमें हैं विटामिन, मिनरल्स और हर्बल एसेंशियल्स जो महिलाओं के रिप्रोडक्टिव अंगों को मजबूती प्रदान करते हैं और उन्हें किसी भी तरह की हानि से सुरक्षित रखते हैं. कुल मिलाकर ये सभी स्वास्थ्यकारी तत्व फीमेल फर्टिलिटी को बढ़ाने में बहुत मददगार साबित होते हैं. साथ ही CoQ10 एक प्रभावशाली एंटीऑक्सीडेंट है जो सेल्स को फ्री रेडिकल्स से होने वाले नुकसान से बचाने में मदद करता है और सेल्स को हेल्दी बनाता है. यह स्वस्थ हार्मोन स्तर को बनाए रखने और एग के विकास में सहायक भूमिका निभाता है.

    4. अपना ओवुलेशन ट्रैक करें (Track your ovulation)

    महिला का शरीर महीने में केवल कुछ ही दिनों में कंसीव करने के लिए तैयार होता है, जब अंडाणु, अंडाशय से बाहर आता है और शुक्राणु (पुरुष कोशिका) से मिलने की प्रतीक्षा करता है. इसे ओवुलेशन फेज़ कहते हैं. अगर आप जल्दी गर्भवती होना चाहती हैं तो आपको पता होना चाहिए कि आपका शरीर कब इस ओवुलेशन के फेज़ में है. जिस दिन आपके पीरियड्स खत्म होते हैं, उससे 12 से 14 दिन बाद ओवुलेशन होता है और इन दिनों में अपने पार्टनर के साथ रिलेशन बनाना आपके कंसीव करने की सम्भावना को बढ़ाता है. आप अपने फर्टाइल दिनों की जांच ओवुलेशन टेस्ट किट के द्वारा भी कर सकती हैं. ये किट आपके अंडाणु के बाहर आने की पुष्टि करती है, जिससे सही समय पर सेक्स करके आप कंसीव करने में कामयाब हो सकती है.

    तो आपने जाना कि गर्भधारण करने के लिए आपको कौन-कौन सी बातों का ध्यान रखना चाहिए, उम्मीद है आपको ये लेख बेहद पसंद आया होगा. ये लेख महिला स्वास्थ्य के लिहाज से बहुत महत्वपूर्ण है इसलिए इसे अपनी महिला साथियों के साथ शेयर जरुर करें.


    Mylo Ovaluna Female Fertility Tablets - 60 Capsules

    Improves Egg Health & Folate Levels |Improves Reproductive Health & Hormonal Balance

    ₹ 1874

    4.4

    (59)

    1383 Users bought

    Is this helpful?

    thumbs_upYes

    thumb_downNo

    Written by

    Mittali Khurana

    Mittali is a content writer by profession. She is a dynamic writer with 04+ years of experience in content writing for E-commerce, Parenting App & Websites, SEO.

    Read More

    Get baby's diet chart, and growth tips

    Download Mylo today!
    Download Mylo App

    Related Topics

    RECENTLY PUBLISHED ARTICLES

    our most recent articles

    Mylo Logo

    Start Exploring

    wavewave
    About Us
    Mylo_logo

    At Mylo, we help young parents raise happy and healthy families with our innovative new-age solutions:

    • Mylo Care: Effective and science-backed personal care and wellness solutions for a joyful you.
    • Mylo Baby: Science-backed, gentle and effective personal care & hygiene range for your little one.
    • Mylo Community: Trusted and empathetic community of 10mn+ parents and experts.